रविवार, 26 फ़रवरी 2017

भारत के इस इलाके की महिलायें रेलवे ट्रैक( पटरी ) की करती हैं पूजा
 रेलवे ट्रैक की पूजा करती महिलाएं
(शायदआपको अजीब लग रहा होगा लेकिन यह हकीकत है.)

अभी तक आपने लोगों को मंदिर या शिवालय या फिर धामों पर पूजा करते हुए हि देखा होगा पर बिहार में पटना के बाढ़ इलाके की महिलाएं रेलवे ट्रैक की पूजा करती हैं.
दरअसल यहा पर महिलाएं पति के दीर्घायु और बच्चों की लंबी आयु के लिए रेलवे ट्रैक की पूजा कती हैं. इन गांवों की महिलाएं रेलवे ट्रैक पर जल और फुल चढ़ाती है और फिर सिंदूर लगाकर अगरबती और कपूर से पूजा करती हैं.
गांव की महिलाओ का कहना है कि रेलवे ट्रैक को इसलिए पूजती हैैे ताकि ट्रैक पार करते वक्त कोई हादसा न हो. बाढ़ और अथमगोला स्टेशन के बीच गेट (पुल) नंबर 58 के पास के ग्रामीण प्रतिदिन इक्ट्ठा होते हैं और बच्चों को रेलवे ट्रैक पार कराकर स्कूल भेजते हैं. मिल्की चक, हरौली, धर्मपुरा राजपुरा, सर्वारपुर, नयाटोला, फुलेलपुर, और मेउरा के लोग रेलवे ट्रैक पार कर बाढ़ शहर पहुंचते हैं.
दरअसल गेट नंबर 58 के पास एक अंडरग्राउंड पुल था जिसके जरिए लोग दूसरी तरफ जाते थे लेकिन भूंकप के कारण यह पुल बंद हो गया है लिहाजा लोगों को अब मजबूरी में रेलवे ट्रैक पार करना पड़ता है. शहर जाने के लिए इन गांवों के लोगों को दूसरे रास्ते से 6 किमी घूमकर जाना पड़ता है. रेलवे ट्रैक पार करते समय हमेशा डर बना रहता है लिहाजा अब इलाके की महिलाएं रेलवे ट्रैक को पूजना शुरु कर दिया है ताकि उनके बच्चे सुरक्षित घर पहुंच सकें
ग्रामीण लोगो का कहना है कि ट्रेन आने पर लोगों को अलर्ट किया जाता है.  बताते हैं कि इन गांवोें का शहर से सीधा संपर्क नहीं होने के कारण मजबूरी में ये लोग रेलवे ट्रैक पार करते हैं..स्थानीय लोग यहां पर वैकल्पिक व्यवस्था करने की मांग रहे हैं.

गांव के लोग कई बार रेलव को पत्र लिखकर गुहार लगा चुके हैं. लेकिन किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं हुई है. रेलवे ट्रैक पर पहले दुर्घटनाएं भी हो चुकी है लेकिन ना तो रेलवे प्रशासन और ना ही बिहार सरकार इनकी सुध ले रहा है.

1 टिप्पणी: